योग दर्शन

  • In Stock

  • 0 Review(s)

  • New

Price :

869.75₹

Color :

Estimated Shipping Time: 5-7 days

Product SKU: MRI11116

योग का अर्थ है - एकता या बांधना, नाहि सिर्फ व्यायाम और आसन। इस शब्द का मूल है - संस्कृत शब्द युज, जिसका मतलब है जुड़ना | यह हमारे जीवन से जुड़े भौतिक, मानसिक, भावनात्मक, आत्मिक और आध्यात्मिक, आदि सभी पहलुओं पर काम करता है, और आपको सभी कल्पनाओं से परे कुछ सोचने का मौका देता है। प्राचीन योग, ज्ञान को जानना और प्रयोग करना, हमें सरल अपितु गहन योग सिद्धांतों (यम और नियम) के बारे में बताता है, जो हमारे लिए एक खुशहाल एवं स्वस्थ जीवन का सार बन सकता है। 'संतोष' सिद्धांत (नियम) जीवन में तृप्त रहने के तथा 'अपरिग्रह' सिद्धांत लालच एवं आसक्ति भावना से होने वाली चिंता, व्याकुलता एवं तनाव से मुक्त करने में मदद करता है। 'शौच' सिद्धांत मानसिक एवं शारीरिक शुद्ि के बारे में बताता है। यह नियम विशेष रूप से आपकी तब सहायता करता है जब आपको संक्रामक रोगों से पीड़ित हो जाने के डर से व्याकुलता हो । इस पुस्तक में दी गयी वैज्ञानिक पद्धति को अपनाकर, आपमें जीवन को सार्थक बनाने व जन-मानस में सेवा भाव करने की सोच व प्रवृत्ति पैदा होगी - ऐसा मेरा मानना है |


Ratings & Reviews

0.0

No Review Found.


To Review


To Comment